अपनी ई-कॉमर्स लोकलाज़ेशन कार्यनीति बनाते समय विचार करने योग्य 3 महत्वपूर्ण प्रश्न

अपनी पिछली पोस्ट में हमने वेबसाइटों/ऐप्लिकेशनों के लोकलाइज़ेशन के लाभों को रेखांकित किया था। बहुत से उद्योग अपनी डिजिटल प्रॉपर्टी को लोकलाइज़ कराकर अपने उपभोक्ताओं के क़रीब आ रहे हैं और इसके कारण लोकलाइज़ेशन व्यवसाय बहुत अधिक बढ़ रहा है।

विश्व भर के भाषा उद्योग के आकार के बारे में यह अनुमान लगाया गया है कि यह 2020 तक बढ़कर 4500 करोड़ का हो जाएगा।

सभी उद्योगों में से लोकलाइज़ेशन को सबसे शीघ्रता से अपनाने वाला उद्योग ई-कॉमर्स है और उसके बाद बैंकिंग और Fintech का नंबर आता है।

सशक्त लोकलाइज़ेशन कार्यनीति होने से न केवल ई-कॉमर्स कंपनियों को प्रतिस्पर्द्धा में आगे बने रहने में मदद मिलती है, बल्कि इससे ग्राहकों को सांस्कृतिक लाभ भी मिलता है।

56.2% ई-कॉमर्स उपभोक्ताओं ने यह राय ज़ाहिर की है कि अपनी भाषा में जानकारी प्राप्त करने की सुविधा होना मूल्य से भी अधिक महत्वपूर्ण है।

हालाँकि, अपने ई-कॉमर्स पोर्टल को लोकलाइज़ करते समय आपको कुछ बिंदुओं पर विचार करना चाहिए:

1) आपके पोर्टल पर उपयोगकर्ताओं द्वारा जेनरेट की गई सामग्री का अनुवाद कैसे किया जाएगा?

अपनी लोकलाइज़ेशन कार्यनीति को अंतिम रूप देने से पहले आपको ख़ुद से ये सवाल करने चाहिए:

क्या रीयल-टाइम परिणामों के लिए आप कोई अनुवाद प्रक्रिया निर्धारित करेंगे या

क्या आप इस सामग्री का अनुवाद करने के लिए कोई समय-सीमा निर्धारित करेंगे?

उपभोक्ता किसी उत्पाद को ख़रीदने से पहले उसकी समीक्षा और रेटिंग देखते हैं।

70% से अधिक उपभोक्ता खरीदारी करने से पहले समीक्षाएँ और रेटिंग देखते हैं निर्णय.

जहाँ एक ओर उत्पाद संबंधी जानकारी, उपलब्धता और अन्य संबंधित जानकारी वाले टेक्स्ट का अनुवाद करना सरल होता है, वहीं उपयोगकर्ताओं द्वारा जनरेट की गई सामग्री का रीयल-टाइम अनुवाद प्रदान करना एक चुनौती है। यह उपभोक्ता के खरीदारी के पूरे चक्र का एक ऐसा पहलू है, जो उसे ख़रीदारी करने के लिए प्रेरित करता है।

अधिकतम प्रभाव तथा लोकलाइज़ेशन प्रयासों पर किए गए निवेश पर लाभ बढ़ाने के लिए, यह अनिवार्य है कि आपके पास उपरोक्त आवश्यकताओं को पूरा करने वाली एक सशक्त कार्यनीति हो।

2) क्या आपका शॉपिंग कार्ट बहु-भाषी है?

ई-कॉमर्स व्यवसाय का अंतिम लक्ष्य उपभोक्ताओं से साइट पर ख़रीदारी करवाना होता है। शॉपिंग कार्ट वह अंतिम गंतव्य है, जहाँ पर साइट पर आने वाले लोग ग्राहकों में बदल जाते हैं।

80% से अधिक इंटरनेट उपयोगकर्ताओं ने ऑनलाइन ख़रीदारी की है

अपने विज़िटर को खरीदारी का समग्र अनुभव देने के लिए सुनिश्चित करें कि आपकी शॉपिंग कार्ट भी लोकलाइज़ की गई है और आपके उपयोगकर्ता से उसी भाषा में इंटरैक्ट करती है, जिसे उन्होंने उत्पादों का चयन करने के लिए चुना है।

3) क्या आपकी लोकलाइज़ेशन कार्यनीति में डायनामिक (गतिशील) बैनर सामग्री का अनुवाद शामिल है?

कॉपी का लोकलाइज़ेशन केवल शब्दशः अनुवाद नहीं होता है। अनूदित कॉपी ग्राहक को भावनात्मक रूप से छूने वाली और उन्हें पोर्टल पर बने रहकर रूपांतरण करने के लिए प्रेरित करने वाली होनी चाहिए।

ई-कॉमर्स पोर्टल अपने रूपांतरण बढ़ाने के लिए भड़कीले बैनरों और आकर्षक कॉपी का उपयोग करते हैं। हालाँकि, इसे नियमित रूप से अपडेट करने और संदेशों को बदलने की ज़रूरत होती है, जो सामान्य रूप से मौसम, विशेष अवसरों के अनुसार बदलते हैं।

आपकी लोकलाइज़ेशन कार्यनीति ऐसी होनी चाहिए, जो डायनामिक (गतिशील) सामग्री का एक सार्थक तरीके से अनुवाद करने के लिए व्यवस्थित समाधान प्रदान करे।

लिंग्वीफाय हमारी अगली पीढ़ी के लोकलाज़ेशन सॉफ़्टवेयरों की मदद से कई ई-कॉमर्स पोर्टलों को उनके लोकलाइज़ेशन लक्ष्य समय पर किफ़ायती तरीके से हासिल हुए हैं। स्रोत कोड को छुए बिना वेब सामग्री का अनुवाद करने की इसकी अनोखी सुविधा इसे आपकी अनुवाद संबंधी ज़रूरतों के लिए सबसे उपयोगी सॉफ़्टवेयर बनाती है।

लाइव डेमो का अनुरोध करने के लिए, कृपया info@लिंग्वासोल.net को लिखें

उत्तर दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा। आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित किए गए हैं। *